क्या आप जानते है क्या होता है मांगलिक योग ?

0

जब किसी स्त्री या पुरुष के विवाह के लिए कुंडली मिलाई जाती है तो सर्वप्रथम मांगलिक का विचार किया जाता है। लड़का लड़की मांगलिक है या नही सबसे पहले अधिकांश यही प्रश्न पूछा जाता है। ऐसा कहा जाता है कि यदि कोई व्यक्ति मांगलिक है तो उसकी शादी किसी मांगलिक से ही की जानी चाहिए। समान्यतः मांगलिक योग को दांपत्य सुख के लिए हानिकारक माना जाता है यह बात आंशिकरूप से सत्य भी है, किंतु पूर्णरूपेण सत्य नही है क्योंकि वैवाहीक सुख मिलेगा या नहीं इसके लिए कई कारण होते है केवल एक मांगलिक योग के कारण किसी का संबंध खराब होगा यह कहना उचित नहीं है।

सर्वप्रथम मांगलिक योग कहते किसे है यह समझते है। सामान्यत: जब किसी भी जातक की जन्म पत्रिका में लग्न, चतुर्थ, सप्तम, अष्टम और द्वादश भाव में से किसी भी एक भाव में मंगल स्थित‍ हो तो उसे ‘मांगलिक योग’ कहते है।

लग्ने व्यये पाताले जामित्रे चाष्टमे कुजे।

कन्याभर्तुविनाश: स्वाद्भर्तुभार्याविनाशनम्।।

कुछ ज्योतिषी इस दोष को लग्न कुंडली, चंद्र कुंडली, सूर्य कुंडली और शुक्र कुंडली से भी देखते हैं। मान्यता है कि ‘मांगलिक योग’ वाले वर अथवा कन्या का विवाह किसी ‘मांगलिक योग’ वाले जातक से ही होना आवश्यक है किन्तु यह पूरी तरह से सत्य नही है।

मांगलिक लड़के और लड़की की शादी के संदर्भ में समाज में कई तरह की बातें प्रचलित है। लड़का या लड़की अगर मांगलिक हो तो माता-पिता के लिए उनकी शादी करना एक कठिन कार्य हो जाता है क्योंकि मांगलिक को सामान्यतः लोग बुरा योग मानते है लेकिन ऐसा नही है क्योंकि मांगलिक के अलावा और भी योग होते है जो अन्य ग्रहों के द्वारा बनते है जिनका विचार किया जाना आवश्यक होता है। कुछ परिस्थितियों में मांगलिक योग अशुभ होता है परंतु ज्यादातर मामलों में इसका अशुभ प्रभाव नही पड़ता है। मांगलिक योग से बिल्कुल भी डरने की आवश्यकता नहीं है।

मांगलिक योग के उपाय –

  1. प्रत्येक मंगलवार के दिन हनुमान जी के मंदिर में जाकर हनुमान जी को लाल फूल चढ़ाने के बाद दीपक जलाकर हनुमान जी की स्तुति का पाठ करें।

  2. रोज मंगल के मंत्रो का जप करें।

  3. लाल रंग का प्रयोग कम से कम करें या न ही करें।

एस्ट्रोलॉजर सुमित तिवारी
एम. ए. ज्योतिष