जानिए कब है विजया एकादशी का विशेष मुहूर्त, महत्व और कथा

0
जानिए कब है विजया एकादशी का विशेष मुहूर्त, महत्व और कथा

हिन्दू धर्म में एकादशी बहुत ही महत्वपूर्ण तिथियों में से एक मानी गई है। ऐसा माना जाता है कि अगर कोई व्यक्ति पूर्ण श्रद्धा और विश्वास के साथ एकादशी का व्रत करता है तो उसे मोक्ष की प्राप्ति होती है और भगवान की कृपा प्राप्त होती है। विजया एकादशी का व्रत एवं पूजन फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि को मनाई जाती है। विजया एकादशी भगवान श्रीहरि विष्णु को समर्पित है। शास्त्रों में ऐसा कहा गया है कि जो व्यक्ति विजया एकादशी का व्रत पूरे विधि-विधान से रखता है तो उसे भगवान श्रीहरि विष्णु की कृपा प्राप्त होती है।

विजया एकादशी व्रत मुहूर्त

एकादशी तिथि का प्रारंभ 08 मार्च 2021 दिन सोमवार को मध्यान्ह 03 बजकर 44 मिनट से होगा एवं एकादशी तिथि का समापन 09 मार्च 2021 दिन मंगलवार दोपहर 03 बजकर 02 मिनट पर होगा l अतः इस वर्ष विजया एकादशी 09 मार्च 2021 दिन मंगलवार को मनाई जाएगी।

विजया एकादशी का महत्व

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार जो भी व्यक्ति एकादशी का व्रत करता हैं उसके पूर्व जन्मों के भी सभी पाप नष्ट हो जाते हैं और उन्हें सदगति की प्राप्त होती है। पौराणिक कथाओं के अनुसार भगवान शिव ने नारद जी को बताया था कि यह एकादशी अक्षय पुण्य प्रदान करने वाली एकादशियों में प्रमुख है। जो भी व्यक्ति विजया एकादशी का व्रत करता है उसके पितृ दोष सामप्त हो जाते हैं और उसके पितृों को नीच योनियों से भी मुक्ति मिल जाती है। विजया एकादशी का विधिपूर्वक व्रत एवं पूजन करने से व्यक्ति को प्रत्येक कार्य में सफलता मिलती होती है और उसकी सभी कामनाएं पूर्ण होती है।